Home > Delhi NCR > आशियाने का सपना होगा पूरा? कम होगी प्रॉपर्टी की कीमत

आशियाने का सपना होगा पूरा? कम होगी प्रॉपर्टी की कीमत

November 22, 2016 | By

हर शहरी का सपना होता है कि उसका अपना घर हो, लेकिन रीयल स्टेट की ऊंची कीमतें उसे किराये के घर में रहने पर मजबूत करती हैं। हालांकि, हाल में हुई कुछ घटनाओं के बाद परिस्थिति तेजी से बदल रही है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले समय में आम आदमी भी आशियाने का सपना पूरा कर सकता है।

msid-55544934,width-400,resizemode-4,property

सरकार ने पिछले दिनों 500 और 1000 रुपये के नोट बंद कर ब्लैक मनी जमा करने वालों को करारा झटका दिया। इससे देश के कई हिस्सों में प्रॉपर्टी के कीमत में गिरावट आने की उम्मीद है। जानकारों के मुताबिक, रीयल स्टेट में ब्लैक मनी का बहुत इस्तेमाल होता रहा है। बहुत से डिवेलपर्स और विक्रेता घर खरीदने वालों से कीमत का एक बड़ा हिस्सा कैश में लेते हैं।

बताया जा रहा है कि 500 और 1000 के नोट बंद होने से इस “खेल” पर लगाम लगेगा। इस कदम का दूसरा असर यह होगा कि बैंकों में अत्यधिक कैश जमा होने की वजह से ब्याज दरें नीचे आएंगी और ईएमआई में राहत मिलेगी। इसके अलावा कई डिवेलपर्स अफोर्डबल हाउसिंग सेगमेंट पर फोकस कर रहे हैं। यह ऐसे लोगों के लिए सुनहरा मौका है, जिन्हें मेट्रो सिटीज में अपना घर पाना कठिन लगता है।

इन चीजों के अलावा कई राज्य रीयल स्टेट रेग्युलेटरी ऐक्ट को खरीदारों का हितैषी बना रहे हैं। अब खरीदारों को अधिक पारदर्शिता मिलेगी। इसके साथ ही प्रॉजेक्ट की देरी और अन्य ऐसी गतिविधियों बंद होंगी, जिनकी वजह से खरीदार परेशान होते हैं।

जेएलएल इंडिया, रेसिडेंशल सर्विसेस के सीईओ अशविंदर राज सिंह कहते हैं, ‘नोटबंदी का असर रीयल स्टेट सेक्टर पर जरूर पड़ेगा, क्योंकि इसमें ब्लैक मनी और कैश ट्रांजैक्शन बड़े पैमाने पर शामिल रहा है। हालांकि, यह सब चीजें सेकेंडरी सेल्स मार्केट में अधिक होती हैं। देश के आठ बड़े शहरों में विश्वसनीय और प्रतिष्ठित डिवेलपर्स के प्रॉजेक्ट्स पर ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा, क्योंकि जो खरीदार ऐसे प्रॉजेक्ट्स में निवेश करते हैं वे होम लोन का सहारा लेते हैं और लेनदेन कानूनी चैनल से होता है।’

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
About Author
Prop Daily

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *