Home > Delhi NCR > 30% सस्ता घर-मोदी का ये कदम आपको देगा बड़ा फायदा, जानिए कैसे होगा असर

30% सस्ता घर-मोदी का ये कदम आपको देगा बड़ा फायदा, जानिए कैसे होगा असर

November 11, 2016 | By

500-1000 के नोट पर बैन के रूप में ब्लैक मनी पर मोदी का मास्टर स्ट्रोक घर-दुकान आदि प्रॉपर्टी खरीदने वाले आम आदमी के लिए अच्छे दिन लाएगा। एक्सपर्ट्स के मुताबिक, रियल एस्टेट इंडस्ट्री में 50 से 80 फीसदी तक लेनदेन ब्लैक मनी के रूप में होता है। ऐसे में भले ही बिल्डरों के लिए यह कड़वा घूंट है, लेकिन प्रॉपर्टी के 30 फीसदी तक सस्ता होने की उम्मीद से आम आदमी को अभूतपूर्व राहत मिल सकती है। साथ ही ‘सबके लिए घर’ का राष्ट्रीय सपना भी अब तेजी से हकीकत में तब्दील होता नजर आएगा।

phpThumb_generated_thumbnail

अभी भी आप यहां चला सकते हैं 500 और 1000 के नोट

ऐसे गिरेंगे रेट करंसी डिमोनेटाइजेशन से रियल स्टेट सेक्टर में पारदर्शिता आने की उम्मीद है। इस कदम से प्रॉपर्टी की कीमतों में गिरावट लगभग तय मानी जा रही है। ऐसे में निवेशक रियल स्टेट में पैसा नहीं लगा पाएंगे और पहले से संकटग्रस्त स्थिति से जूझ रहे बिल्डर्स को मजबूरन प्रॉपर्टी के रेट्स गिराने होंगे। सबसे अधिक ब्लैक लेन-देन के चलते दिल्ली-एनसीआर में इसका सबसे ज्यादा असर देखने को मिलेगा। टियर-2 और टियर-3 शहरों में भी अच्छा असर दिखेगा।

एक्सपर्ट व्यू

रियल्टी बिजनेस से जुड़े लोग हालांकि इस कड़वी घूंट को पीने के लिए तैयार नजर नहीं आ रहे हैं, लेकिन कहीं ना कहीं दबी जुबान में कीमतों में गिरावट के संकेत जरूर दे रहे हैं।

‘फायदा मिलेगा पर धीरे-धीरे’

प्रॉप टाइगर डॉट कॉम के सीईओ ध्रुव अग्रवाल कहते हैं, ‘कीमतों में तत्काल किसी गिरावट के आसार नहीं हैं, लेकिन ट्रांजैक्शन पर बड़ा असर जरूर पड़ेगा। जिन डेवलपर्स के पास बड़ी मात्रा में अनसोल्ड प्रॉपर्टी है, उनके लिए बड़ा संकट होगा और अंततः उन्हें रेट घटाने पड़ेंगे।’

‘अभी आफत, बाद में राहत’एसएआरई होम्स के एमडी विनीत रेलिया का मानना है कि करंसी डिमोनेटाइजेशन और रियल एस्टेट रेगुलेशन एक्ट मिलकर फिलहाल भले ही लंबी अवधि में सेक्टर के लिए सकारात्मक ही साबित होंगे। इससे कैशलेस ट्रांजैक्शन को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है। हाई वैल्यू सेग्मेंट में ज्यादा असर की संभावना है।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
About Author
Prop Daily

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>